Search
Close this search box.

सराय काले खां में क्राइम ब्रांच और बदमाशों के बीच फायरिंग, 2 ऑटोमेटिक पिस्टल के साथ दो अरेस्ट

नई दिल्ली, 23 जनवरी (अ सं )। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दो शातिर बदमाश को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। इनके पास से दो सोफिस्टिकेटेड ऑटोमेटिक पिस्टल और आधा दर्जन कारतूस बरामद किया गया है। इनकी पहचान कुलदीप और अब्दुल कादिर के रूप में हुई है। दोनों दिल्ली के भजनपुरा और उत्तर प्रदेश के बिजनौर के रहने वाले हैं। इनकी गिरफ्तारी से नोएडा के गौतम बुद्ध नगर में हुई हत्या के मामले का खुलासा किया गया है।

स्पेशल पुलिस कमिश्नर शालिनी सिंह की सुपरविजन में एडिशनल सीपी संजय भाटिया की देखरेख में एसीपी उमेश भरथवाल, इंस्पेक्टर रामपाल, योगेश कुमार, सब इंस्पेक्टर मुकेश, प्रमोद, अनिल, सहायक सब इंस्पेक्टर नरेंद्र, संजय, अमित गुलिया, अमित सिंधु, हेड कांस्टेबल रामदास, राम नरेश, सिद्धार्थ, आशीष और धर्मेंद्र की टीम ने साउथ दिल्ली के सराय काले खां इलाके में इन्हें बस स्टैंड के पास बसेरा पार्क में ट्रैप किया था।

जैसे ही इनफॉर्मर ने इन दोनों बदमाशों के बारे में कंफर्म किया, पुलिस टीम ने दोनो को सरेंडर करने को कहा। लेकिन उन्होंने पार्क की तरफ भागते हुए पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। बदमाशों ने छह राउंड फायर कर दिया। इसमें दो गोली पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगी। उसी दौरान पुलिस टीम ने भी फायरिंग की और दोनों को गोली पैर में लगी। पुलिस टीम ने भागने से पहले दोनों को फिर दबोच लिया। पूछताछ में पता चला की कुलदीप पहले लूट के मामले में और अब्दुल कादिर तीन मामलों में शामिल रहा है।

पुलिस टीम को पता चला कि दोनों क्रिमिनल अपने एक दोस्त के जरिए संपर्क में आएं जो अभी जेल में बंद है। कपिल उर्फ कल्लू से कुलदीप का संकल्प संपर्क मैसेंजर एप के जरिए हुआ था। उसके बाद कपिल उर्फ कल्लू ने इन्हें अपने विरोधी गैंग नीरज बवाना के गैंग मेंबर की हत्या करने का आर्डर दिया था। कुलदीप ने पुलिस को बताया कि 2020 में अपने दोस्त के साथ झगड़ा करने वाले सख्स पर रेस्टूरेंट के अंदर चाकू से हमला कर दिया था। उस मामले में वह गिरफ्तार होकर जब जेल गया तो वही उसकी अब्दुल से मुलाकात हुई, उसके बाद दोनों दोस्त बन गए। उसके बाद इनको विरोधी गैंग के मेंबर की हत्या करने का आर्डर दिया गया था।

GAGAN PAWAR
Author: GAGAN PAWAR

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज