Search
Close this search box.

बुराड़ी अस्पताल पर भ्रष्ट अस्पताल प्रशासन के खिलाफ अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू

नई दिल्ली, 16 जनवरी (वि सं )। सफाई कामगार यूनियन (एसकेयू) के नेतृत्व में बुराड़ी अस्पताल के सफाई कर्मचारियों ने अपने अस्पताल में व्याप्त भ्रष्टाचार, यौन-उत्पीड़न व शोषण के खिलाफ आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। ज्ञात हो कि वेतन भुगतान अधिनियम 1936 के प्रावधान के बावजूद सफाई कर्मचारियों को पिछले डेढ़ महीने से उनके वेतन का भुगतान नहीं किया गया है।

अधिनियम के अनुसार अनिवार्यतः हर महीने की सात तारीख तक वेतन का भुगतान करना होता है। इस संदर्भ में यह ज्ञात हो कि सफाई कर्मचारी समाज के सबसे सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित हिस्से से आते हैं और इसलिए वेतन का समय पर भुगतान न होना उन्हें कर्ज के जाल की स्थिति में फंसा देता है। इस प्रकार, अधिनियम के अनिवार्य प्रावधान के बावजूद, वेतन का भुगतान न कर सफाई कर्मचारियों को जानबूझकर प्रताड़ित किया जा रहा है। इसके अलावा, उन्हें पीएफ, ईएसआई और बोनस जैसे अन्य वैधानिक प्रावधान भी सुनिश्चित नहीं किए गए हैं।

ज्ञात हो कि भ्रष्ट बुराड़ी अस्पताल प्रशासन और ठेका कंपनी की साँठ-गाँठ से अस्पताल में चल रहे भ्रष्टाचार, शोषण और यौन उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाने वाले कामगारों को चुप कराने के लिए ही यह किया जा रहा है। इसके अलावा, ठेका कंपनी द्वारा कामगारों को धमकाया जा रहा है और मनमाने ढंग से और जबरदस्ती उनको अस्पताल से स्थानांतरित करने की भी कोशिश की जा रही है। जो कामगार कंपनी के इस मनमाने आदेश के खिलाफ बोल रहे हैं उन्हें नौकरी से निकालने की धमकी दी जा रही है।

सफाई कामगारों का शोषण-उत्पीड़न विशेष रूप से चिंताजनक हैं क्योंकि यह माननीय दिल्ली स्वास्थ्य मंत्री के कार्यालय के हस्तक्षेप के बावजूद हो रहा है। सफाई कर्मचारियों ने अपना न्यूनतम वेतन, पिछले महीनों की बकाया वेतन राशि और अन्य वैधानिक प्रावधान सुनिश्चित नही किए जाने तक अपनी हड़ताल जारी रखने का ऐलान किया है। इसके अलावा, उन्होंने यह भी मांग की है कि भ्रष्ट अस्पताल अधिकारियों को तुरंत निलंबित किया जाए और ग्लोबल वेंचर्स का कान्ट्रैक्ट तुरंत रद्द कर उसके अधिकारियों के खिलाफ पुलिसिया कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।

GAGAN PAWAR
Author: GAGAN PAWAR

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज